Iran · Islam · Islamic law · Jihad · Muslim · News · Religious · Sharia Law · World Muslim

What… Iran!! It’s True

ईरान पिछले कई सालो से मध्य एशिया के देशो मे इंतेशार फैला कर वहाँ के पूरअमन हालात को खराब कर रहा है सबसे पहले इसने इराक़ मे दखलअंदाज़ी की और वहाँ रह रहे सुन्नी अवाम पे शिया संगठनो को अपने देश मे हथियारो की ट्रेनिंग दे कर उनके उपर ज़ुल्म का पहाड़ तोड़ा फिर सिरिया मे बिशार-अल-असद जैसे फ़िरौन की खुल कर हिमायत की और उसे हथियार के साथ अपने फौज की भी खिदमात दी और उस बिशार-अल-असद ने 3 लाख से अधिक सुन्नी मुसलमानो का क़त्ले आम किया फिर इसने लेबनान मे “हिज़बुल्लाह” जैसे आतंकवादी संघटन के द्वारा लेबनान के साथ साथ दूसरे अरब मुल्को मे आतंकवादी गतिविधियो को अंजाम दिया और इस संगठन ने इराक़ और सिरिया मे वो क़त्ले आम मचाया है जो किसी भी संघटन ने नही किया है फिर यही ईरान पूरअमन मुल्क यमन मे यमन के शियो को भड़का कर उन्हे अपने देश मे ले जा कर के हथियारो की ट्रेनिंग दी और फिर उन्हे यमन भेज कर के वहाँ की सुन्नी होकूमत के खिलाफ बग़ावत करवाई और ध्यान रहे इन सभी मुल्को मे सुन्नी होकूमत थी सिवाय सिरिया के और सिरिया मे वहाँ की सुन्नी अवाम ने अपने उपर हो रहे ज़ुल्म के खिलाफ जब आवाज़ बुलंद की तो यही ईरान उनपे बमो की वर्षा कर के चुप करा दिया इन सबका मक़सद दो है पहला की जीतने भी देश सऊदी अरब के आस पास है उन सबमे अफ़रा तफ़री मचा कर वहाँ की सुन्नी होकूमतो को जड़ से उखाड़ कर शिया स्टेट बनाना ताकि वो सऊदी अरब को घेर सके और अपने पुराने मक़सद यानी की मक्का और मदीना पे क़ब्ज़ा को पूरा कर सके वाज़े रहे की इस से पहले 1987 मे ईरानी एजेंटो ने हज के मौके पे मक्का मे क़त्ले आम करके हज़ारो हाजियो का कत्ल कर दिया था और मक्का पे शिया क़ब्ज़े की कोशिश की जिसे सऊदी होकूमत के आग्रह पे पाकिस्तानी फौज ने क़ब्ज़े को छुड़ाया और उन ईरानी शिया आतंकवादियो का सफ़ाया किया था और इनका दूसरा मक़सद जो है वो ग्रेटर इसराइल का क्याम…हैरत हुई न…???..ईरान इसराइल का ग्रेट इसराइल बनाने मे मदद प्रदान कर रहा है लेकिन अहले इल्म इस से वाक़िफ़ है…..एक बात याद रखे की शिया धर्म का संस्थापक एक यहूदी था जिसका नाम “अब्दुल्लाह इब्न सबा” था और जब आप शिया धर्म की हिस्ट्री की स्टडी करते है तो ये वाज़े हो जाएगा की दरहक़ीक़त शिया यहूदियत की एक नाजायज़ औलाद है जो इस्लाम का वस्त्र धारण कर उसकी कोख मे पल कर उसी को खोखला करने की भरकस कोशिश कर रही है जैसा की अब्दुल्लाह इब्न सबा ने यहूदी होकर इस्लाम को नुकसान पहुचाने के लिये मुसलमान होने का ढोंग किया और उसका खामियाज़ा आज तक मुसलमान शियत के रूप मे भुगत रहे है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s