News

​आम आदमी को परेशान करने की बजाए अमरिंदर का काला धन वापिस लायें मोदी : केजरीवाल

Sanjeevni Today 22 Nov. 2016 09:56
नई दिल्ली। आप के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री ने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह और उनके परिवार गलत तरीके से हासिल किया गया धन स्विस बैंक खाते में रखने का आरोप लगाया। अमरिंदर ने इस आरोप को सिरे से खारिज कर दिया। केजरीवाल आगामी विधानसभा चुनाव के सिलसिले में इस समय पंजाब का दौरा कर रहे हैं। अमरिंदर ने पलटवार करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री पर केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली के एजेंट के रूप में काम करने का आरोप लगाते हुए चुटकी ली।
अमरिंदर ने कहा कि केजरीवाल पुराने एवं अविश्वसीय दस्तावेज जारी कर एक बार फिर उनके परिवार के लोगों के नाम पर स्विस बैंक में खाते होने का मनगढ़ंत एवं राजनीतिक रूप से प्रेरित आरोप लगाने की कोशिश कर रहे हैं। पंजाब के अपने 11 दिवसीय दौरे के दूसरे दिन एक सभा को संबोधित करते केजरीवाल ने यह बात कही। केजरीवाल ने कहा कि अमरिंदर की पत्नी परनीत कौर एवं उनके बेटे रानिंदर सिंह के बैंक खाते के कथित ब्यौरे दिए और कहा कि उन्होंने 2005 में ये खाते खोले थे, जब अमरिंदर पंजाब के मुख्यमंत्री थे। केजरीवाल ने आरोप लगाया कि अमरिंदर और उनके परिवार ने गलत तरीके से हासिल किए गए धन के हस्तांतरण के लिए एक ट्रस्ट का गठन भी किया।केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देते हुए कहा कि अगर उनके पास इच्छाशक्ति एवं साहस है तो वे नोटबंदी से आम आदमी को परेशान करने की बजाए अमरिंदर और उनके परिवार द्वारा इन विदेशी खातों में जमा किया गया काला धन वापस लाएं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने मीडिया से कहा कि वह नोटबंदी के कारण लोगों के खुश होने के गलत तथ्य और गुमराह करने वाली खबरें दिखाने के बजाए इस कदम का कड़ा विरोध कर रहे लोगों पर भी ध्यान दें।अमरिंदर ने केजरीवाल पर पलटवार करते हुए दस्तावेजों को दोबारा जारी करने को बेबुनियाद और महज एक प्रचार का हथकंडा बताकर खारिज कर दिया। अमरिंदर ने कहा कि उनमें कोई आधार एवं सच्चाई नहीं है जबकि केंद्र एवं राज्य सरकारें पूरा आधिकारिक तंत्र पास होने के बावजूद कुछ साबित नहीं कर पायी है। उन्होंने कहा कि आप नेता जिन कथित खाता संख्याओं की बात कर रहे हैं, वे वहीं खाते हैं जिन्हें उनके सहयोगी आशीष खेतान ने मार्च, 2016 में जारी किया था और जिनके फर्जी होने की बात वह पहले ही कह चुके हैं।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s