News

नोटबंदी के हाहाकार से निकलने के लिए मोदी की नई नौटंकी : आशुतोष

​Navodaya Times

नई दिल्ली (ब्यूरो)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के सांसदों और विधायकों को निर्देश दिए हैं कि वे 8 नवम्बर के बाद से 31 दिसम्बर के बीच होने वाली बैंक खातों का विवरण पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को देंगे।
इस पर आम आदमी पार्टी (आप) ने तंज कसा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीटर पर लिखा कि तो अब भाजपा के एमपी और एमएलए अमित शाह को अपने बैंक डिटेल देंगे और अमित शाह काले धन की चेकिंग करेंगे? ‘आप’ नेता आशुतोष ने कहा कि नोट बंदी के हाहाकार से निकलने के मोदी जी नई नौटंकी कर रहे हैं।

भाजपा सांसदों और विधायकों की बैंक ट्रांजेक्शन की जानकारी लेने वाले अमित शाह कौन होते हैं? इसकी सूचना आयकर विभाग और जनता के बीच रखी जानी चाहिए। 8 नवम्बर से पहले ही भाजपा नेताओं को नोटबंदी के फैसले की जानकारी थी। ऐसे में, 8 नवम्बर से पहले के दौरान नेताओं, उनके परिवार व नौकरों के बैंक विवरण सार्वजनिक होने चाहिए।

अखबारों में छप रहा है कि भाजपा नेताओं ने 8 नवम्बर से पहले देश के कई हिस्सों में बेनामी संपत्तियां खरीदी हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में सबसे ज्यादा काले धन का प्रयोग हुआ। प्रदेश संयोजक दिलीप पांडेय ने कहा कि केंद्र सरकार कड़वे सच को देश से छिपा रही है।

बैंकों और एटीएम से नकदी खत्म हो चुकी है। बताया जा रहा है कि अब 24 हजार रुपए से अधिक की धनराशि बैंक से निकाली जा सकती है। इसकी छिपी शर्त नहीं बताई गई। आरबीआई ने 24 हजार से अधिक तभी निकाल सकते हैं, जब आपने खुद नए नोट बैंक में जमा कराए होंगे।

रोजाना तुगलकी फरमान लाकर भ्रम फैलाया जा रहा है। अब सरकार खुद दलाल बन गई है। 50 प्रतिशत काला धन लेकर सफेद किया जा रहा है। राघव चड्ढा ने बताया कि केंद्र ने फिक्स डिपॉजिट इंटरेस्ट में भारी कटौती की है। भाजपा का 80 प्रतिशत फंड कालाधन है। भाजपा को इसकी जानकारी सार्वजनिक करनी चाहिए।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s