News

नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी पर सुनाया WhatsApp किस्सा, कहा- डेबिट कार्ड दे दो मैं भीख ले लेता हूं

​Jansatta 3 Dec 2016 18:26 pm

मोदी ने कहा कि भारत के लोगों की ताकत को कम करके नहीं आंकना चाहिए। ‘एक बार उन्हें पता चले कि ईमानदारी का रास्ता ये है तो देश का गरीब से गरीब भी चल पड़ता है।’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नोटबंदी के फैसले की व्यापक स्वीकार्यता का दावा करते हुए शनिवार (3 दिसंबर) को व्हाट्स ऐप पर आए संदेश में एक भिखारी का उल्लेख किया, जो भीख के पैसे डेबिट कार्ड से लेने को कहता है। मोदी ने भाजपा की परिवर्तन यात्रा के तहत आयोजित जनसभा में कहा, ‘व्हाटस ऐप पर किसी ने दिखाया कि कोई भिखारी कार में भिक्षा मांगने गया। कार में जो बैठे थे, उन्होंने कहा कि छुटटे पैसे नहीं है हालांकि हम तेरी मदद तो करना चाहते हैं। इस पर भिखारी बोला कि चिन्ता मत करो। उसने स्वाइप मशीन निकाली और कहा डेबिट कार्ड दे दो, मैं ले लेता हूं।’ उन्होंने कहा, ‘कहने का मतलब ये है कि हिन्दुस्तानी नयी चीज को स्वीकार करने में देर नहीं करता बशर्ते सही तरीके से बात पहुंचायी जाए। एलईडी बल्ब का अभियान चलाया गया था। देश के करोड़ों लोगों ने लटटू बदल दिये। मेरा देश परिवर्तन को स्वीकार करने वाला देश है। मेरे देश का गरीब भी इसे स्वीकार करने वाला है।’ मोदी ने कहा कि भारत के लोगों की ताकत को कम करके नहीं आंकना चाहिए। ‘एक बार उन्हें पता चले कि ईमानदारी का रास्ता ये है तो देश का गरीब से गरीब भी चल पड़ता है।’

कैशलेस अर्थव्यवस्था की वकालत करते हुए मोदी ने कहा कि अब मोबाइल फोन में ही बैंक आ गया है। जो खर्च करना है, मोबाइल के जरिए करें। एटीएम पर जाकर नोट निकालना अब जरूरी नहीं है। आप अपने मोबाइल से भी खर्च कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि बेईमानी का पैसा बाहर निकालना है और भ्रष्टाचार समाप्त करना है। भविष्य में ये बीमारी खड़ी ना हो, इसके लिए भी दरवाजे बंद करने हैं। मोदी ने जनता से अपील की कि वह मोबाइल पर कारोबार सीखे। ये कोई मुश्किल कार्य नहीं है। बहुत आसानी से पैसे देकर माल खरीदा जा सकता है। वक्त बदल चुका है। ‘बेईमानी के सारे दरवाजे बंद करने के लिए मुझे मदद चाहिए। नोट छाप छाप कर हम बेईमान की मदद नहीं करना चाहते। मैं रात दिन लगा हूं। आपकी तकलीफ मेरी तकलीफ है।’ मोदी ने नोटबंदी से किसानों को समस्या होने की विपक्ष की दलील को खारिज करते हुए कहा, ‘मैं किसानों का विशेष रूप से वंदन करना चाहता हूं कि तकलीफ के बावजूद बुवाई में कमी नहीं आयी। पिछले साल से बुवाई बढ़ी है। वो (विरोधी) भ्रम फैला रहे हैं और निराशा का वातावरण पैदा कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि देश सशक्त है और देश का नौजवान सशक्त है। जिस देश के पास 65 प्रतिशत लोग 35 साल से कम उम्र के हों वो नौजवान देश को कहीं से कहीं पहुंचा सकता है। मोदी ने युवाओं से अपील की कि वे लोगों को सिखायें कि हाथ में नोट नहीं होने के बावजूद पैसे चुकता किये जा सकते हैं। इससे ईमानदारी के सारे रास्ते खुल जाएंगे। उन्होंने कहा, ‘बेईमानों को संदेश दीजिए। तालियां बजाकर संदेश दीजिए कि देश बेईमानी को स्वीकार नहीं करेगा ईमानदारी की ओर चलेगा। सबको मिलकर सत्तर साल की बीमारी बंद करनी है। ऐसी आवाज होनी चाहिए कि हर बेईमान के रोंगटे खड़े हो जाएं।’

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s