News

नोटबंदी से ठीक पहले अमित शाह ने अहमदाबाद के बैंक को पहुंचाया फायदा: कांग्रेस

​Catch News 27 Dec. 2016 15:58

कांग्रेस ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर आरोप लगाया कि उन्होंने अहमदाबाद के एक बैंक को भरोसा दिलाया था कि उसे नोटबंदी से फायदा होगा. कांग्रेस सांसद जयराम रमेश का दावा है कि 8 नवम्बर को हुई नोटबंदी की घोषणा के बाद बस दो ही दिन में अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक (एडीसी) में करीब 500 करोड़ रूपए जमा हुए.
रमेश ने यह भी कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह इस बैंक के निदेशक हैं. ज़ाहिर है कि भाजपा के करीबियों को नोटबंदी के इस फैसले के बारे में पहले से जानकारी थी और सरकार ने नोटबंदी के बाद उनकी मदद भी की. एडीसी बैंक 1925 से अस्तित्व में है. अजय भाई एच. पटेल इसके अध्यक्ष हैं. एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कथित तौर पर 8 नवम्बर को ही 500 करोड़ रूपए इस बैंक में जमा हुए.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय ने मामले में जांच के आदेश दिए हैं. जयराम रमेश ने देश भर में घटे ऐसे और भी वाकये याद किए जब भाजपा नेताओं के पास कैश पकड़ा गया. इससे साफ पता लगता है कि भाजपा को सरकार के इस फैसले के बारे में पहले से पता था.

कई मामलों का हवाला दिया

उन्होंने याद दिलाया कि कैसे गुजरात के महेश शाह ने 13860 रूपए का आय कर घोषित किया. महाराष्ट्र में भाजपा नेता पंकजा मुंडे और सुदेश देशमुख के करीबी एक व्यक्ति की कार से 10 करोड़ रूपए के पुराने नोट मिले. इसी प्रकार पश्चिम बंगाल से भाजपा नेता मनीष शर्मा और तमिलनाडु से भाजपा के ही जेवीआर अरूण की कार से भी पुराने नोट बरामद किए गए थे.
जयराम रमेश ने प्रधानमंत्री मोदी से आग्रह किया कि वे अपनी पार्टी के सदस्यों के पास से इतनी बड़ी रकम मिलने की जांच करवाएं. उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि अब कांग्रेस पार्टी को हक है कि वह नोटबंदी के इस कदम को पूरी तरह असफल करार दे सके.

ढुलमुल कांग्रेस

कांग्रेस नेता लगातार ऐसी बयानबाजी कर रहे हैं, जिससे लगता है कि नोटबंदी को लेकर कांग्रेस सरकार को चारों ओर से घेरना चाहती है. हालांकि पार्टी के भीतर इस संबंध में कई उतार-चढ़ाव देखे गए. कांग्रेस ने 27 दिसम्बर यानी मंगलवार को अन्य विपक्षी दलों के साथ मिल कर एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है. कुछ पार्टियों ने यह कहते हुए इस कॉन्फ्रेंस में शामिल होने से किनारा कर लिया कि कांग्रेस ने अभी तक विपक्ष के एक संयुक्त व्यापक कार्यक्रम पर चर्चा शुरू नहीं की है.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s